राफेल लड़ाकू विमानों पर ‘BS’ चिन्हित करने का फैसला

भारतीय वायु सेना ने पूर्व प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ को सम्मान देते हुए 30 राफेल लड़ाकू विमानों पर ‘टेल नम्बर में ‘BS’ चिन्हित करने का फैसला किया है. छह राफेल प्रशिक्षक विमानों में टेल नम्बर में ‘RB’ चिन्हित किया जायेगा. यह मौजूदा वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के नाम पर आधारित है. भदौरिया ने विमान खरीद का करार कराने में वार्ताकार के तौर पर अहम भूमिका निभाई थी.

भारतीय वायु सेना ने फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन से 59 हजार करोड़ रुपये में 36 राफेल विमान खरीदा गया था. 36 राफेल विमानों में से छह विमान प्रशिक्षक हैं जबकि 30 विमान लड़ाकू हैं. प्रशिक्षक विमान दो सीट वाले होंगे और उनमें लगभग वे सभी चीजें होंगी जो लड़ाकू विमानों में होंगी.

बीएस धनोआ वायुसेना में अपनी सितंबर 2019 में सेवानिवृत्त हो गए थे. उन्होंने कहा था कि अपनी लड़ाकू क्षमताओं को बढ़ाने के लिए राफेल विमानों की जरूरत है. राफेल विमान आधुनिक हथियारों से लैस हैं.

तीन राफेल विमान पहले भारत को सौंपे जा चुके हैं और फ्रांस में भारतीय वायुसेना के पायलटों को प्रशिक्षण देने के लिए इनका इस्तेमाल हो रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 8 अक्टूबर 2019 को फ्रांस में पहला राफेल विमान प्राप्त किया था.

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉