संयुक्त राष्ट्र महासभा ने वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष घोषित किया

संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) ने वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष (International Year of Millets) घोषित किया है. संयुक्त राष्ट्र ने यह घोषणा भारत की पहल पर किया है.

अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष: एक दृष्टि

  • ‘अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष 2023’ का प्रस्ताव भारत ने बांग्लादेश, केन्या, नेपाल, नाइजीरिया, रूस और सेनेगल के साथ रखा था. इसका समर्थन 70 देशों ने किया. 193 सदस्यीय आम सभा ने सर्वसम्मति से इसकी स्वीकृति दे दी.
  • बाजरा स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है. अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष के दौरान विश्वभर में बाजरे के फायदे का प्रचार-प्रसार किया जाएगा. साथ ही जलवायु परिवर्तन के दौर में इसकी पैदावार को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • प्रस्ताव के पारित होने के साथ ही भारत के स्थायी मिशन ने बाजरा से बने ‘मुरुक्कू’ का सभी सदस्यों में वितरण किया. यह नाश्ते में खाए जाने वाला एक भारतीय व्यंजन है.
लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉