प्रख्यात एथलीट मिल्खा सिंह का निधन, ‘फ्लाइंग सिख’ नाम से जाने जाते थे


फ्लाइंग सिख के नाम से प्रख्यात भारत के महान एथलीट मिल्खा सिंह का 18 जून को 91 साल की आयु में निधन हो गया. मिल्खा सिंह भारत को खेल इतिहास के सबसे सफल एथलीट माना जाता है.

मिल्खा सिंह का जन्म 1929 में गोविंदपुरा (जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है) में हुआ था. वह विभाजन के बाद भारत आ गये थे भारतीय सेना में शामिल हो गए. भारत सरकार ने उन्हें 1958 में पद्मश्री से सम्मानित किया था.

‘फ्लाइंग सिख’ नाम से जाने जाते थे

1960 में पाकिस्तान में आयोजित इंटरनेशनल एथलीट कंपिटिशन में मिल्खा सिंह का प्रदर्शन देखने के बाद तत्कालीन राष्ट्रपति फील्ड मार्शल अयूब खान ने मिल्खा सिंह को फ्लाइंग सिख का नाम दिया था.

कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय

  • मिल्खा सिंह ने 1956 में मेलबर्न में आयोजित ओलिंपिक खेल में भाग लिया था लेकिन कोई पदक जीत नहीं पाए थे.
  • उन्होंने 1958 में कटक में आयोजित नेशनल गेम्स में 200 मीटर और 400 मीटर स्पर्धा में रिकॉर्ड बनाए.
  • 1958 में टोक्यो में आयोजित एशियाई खेलों में उन्होंने 200 मी और 400 मी की दौड़ में भी स्वर्ण पदक जीता.
  • मिल्खा सिंह ने 1958 में इंग्लैंड में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में 400 मीटर की दौड़ में स्वर्ण पदक जीता था. वह स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने.
  • 1962 में जकार्ता एशियाई खेलों उन्होंने में 400 मीटर और 4×400 रिले में स्वर्ण पदक जीते.

मिल्खा सिंह के जीवन पर साल 2013 में बॉलीवुड हिंदी फिल्म- भाग मिल्खा भाग बनी थी. इसका निर्देशन राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने किया, जबकि लेखन प्रसून जोशी का था. मिल्खा सिंह की भूमिका में फरहान अख्तर ने निभाई थी.