रूस ने नई हाइपरसोनिक मिसाइल का पनडुब्बी से पहली बार सफल परीक्षण किया

रूस ने हाल ही में अपनी नई हाइपरसोनिक मिसाइल का पनडुब्बी से पहली बार सफल परीक्षण किया था. इस मिसाइल का नाम ‘जिरकॉन’ (Zircon) है जिसे सेवेरोडविंस्क पनडुब्बी से प्रक्षेपित किया गया और बेरिंट सागर के तट पर स्थित एक नकली (मॉक) लक्ष्य को सटीक तरीके से निशाना बनाया.

जिरकॉन: एक दृष्टि

यह पहली बार है जब जिरकॉन मिसाइल का प्रक्षेपण पनडुब्बी के जरिये किया गया. इससे पहले जुलाई में नौसेना के युद्धपोत से इसका कई बार परीक्षण किया गया था. इसे 2022 में रूसी नौसेना में शामिल किया जाएगा.

जिरकॉन ध्वनि की गति से नौ गुना (मैक 9) तेज उड़ान भरने में सक्षम होगी और यह 1,000 किलोमीटर (620 मील) सीमा क्षेत्र में लक्ष्य को निशाना बना सकती है.

सॉलिड-फ्यूल इंजन के साथ बूस्टर स्टेज जिरकॉन को सुपरसोनिक गति तक बढ़ा देता है. इस चरण के बाद, तरल-ईंधन से युक्त एक स्क्रैमजेट मोटर इसे हाइपरसोनिक गति तक बढ़ा देता है.

जिरकॉन का उद्देश्य रूसी क्रूजर, युद्धपोत और पनडुब्बियों को बांटना है. यह रूस में विकसित कई हाइपरसोनिक मिसाइलों में से एक है.

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉