इंडोनेशिया ने अपनी राजधानी जकार्ता से बदलकर नुसंतारा करने को मंजूरी दी

इंडोनेशिया ने अपनी राजधानी को बदलने का फैसला किया है. नई राजधानी का नाम नुसंतारा (Nusantara) होगा. इंडोनेशिया की संसद ने 19 जनवरी 2022 को इसकी मंजूरी दी थी. राष्ट्रपति जोको विडोडो साल 2019 में पहली बार नई राजधानी बसाने से संबंधित बिल संसद में लाए थे. नुसंतारा, ईस्ट कालीमंतन इलाके में है, जो बोर्नियो द्वीप का हिस्सा है.

1949 में आजादी के बाद से जकार्ता ही इंडोनेशिया की राजधानी है. नई राजधानी को वर्ल्ड सिटी विजन के तहत तैयार किया जाएगा. जैसे दुबई या सिंगापुर. एक अनुमान के मुताबिक, नई राजधानी के कंस्ट्रक्शन पर राष्ट्रीय खजाने से करीब 33 अरब डॉलर खर्च होंगे. नुसंतारा को 256,142 हेक्टेयर में बसाया जाएगा.

जकार्ता से नुसंतारा क्यों?

जकार्ता देश की 60% आबादी वाले जावा द्वीप का हिस्सा है. यहाँ हर साल बाढ़ से कई लोग मारे जाते हैं. जकार्ता की आबादी 1 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है. यह दुनिया के सबसे ज्यादा पॉल्यूटेड शहरों में से एक है. खराब ट्रैफिक की वजह से हर साल 6.8 अरब डॉलर का नुकसान हो रहा है.

कालीमंतन जकार्ता से 2300 किमी दूर है. इंडोनेशियाई भाषा में नुसंतारा का मतलब ऐसी जगह से है, जो चारों तरफ पानी से घिरी हो.

भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली बदली गयी थी

अंग्रेजों के दौर में पहले भारत की राजधानी भी दिल्ली नहीं, बल्कि कलकत्ता थी. 11 दिसंबर 1911 को जॉर्ज पंचम ने इसे दिल्ली शिफ्ट करने का ऐलान किया. इस कवायद को पूरा होने में दो दशक लग गए. 13 फरवरी 1931 को दिल्ली देश की नई राजधानी बनी.

 

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉