दूसरे विश्व युद्ध में विजय की स्मृति में रूस में 77वां विजय दिवस मनाया गया

रूस में 9 मई को 77वां विजय दिवस (Victory Day) मनाया गया था. यह दिवस दूसरे विश्व युद्ध में तत्कालीन सोवियत संघ (USSR) के विजय की स्मृति में मनाया जाता है. इस अवसर पर एक समारोह का आयोजन मॉस्‍को में किया गया था. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन देश को संबोधित किया था.

मुख्य तथ्य

  • ये 8 मई 1945 को नाजी जर्मनी की हार और आत्मसमर्पण के साथ यूरोप में द्वितीय विश्व युद्ध के अंत का भी प्रतीक माना जाता है.
  • पश्चिमी सोवियत संघ को जीतने के उद्देश्य से 22 जून 1941 को जर्मन सेना ने सोवियत संघ पर आक्रमण शुरू किया था. इस आक्रमण का कोड ऑपरेशन बारब्रोसा (Operation Barbarossa) था.
  • उस समय एडोल्फ़ हिटलर (1889–1945) जर्मन शासक था. वे “राष्ट्रीय समाजवादी जर्मन कामगार पार्टी” (NSDAP) के नेता थे. इस पार्टी को प्रायः “नाज़ी पार्टी” के नाम से जाना जाता है.
  • दूसरे विश्व युद्ध में 2.7 करोड़ सोवियत नागरिक मारे गए थे जो किसी भी देश में होने वाली सबसे अधिक जनहानि थी. रूसी इस युद्ध को ग्रेट पेट्रिओटिक वॉर के रूप में याद करते हैं.
लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉