तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा को लद्दाख का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा को लद्दाख के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘डीपाल आरएनजीम डस्टन’ (dPal rNgam Duston Award) पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

मुख्य बिन्दु

  • उन्हें यह सम्मान विशेषकर लद्दाख में मानवता की सेवा के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया गया है. यह पुरस्कार लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद (LAHDC) द्वारा प्रदान किया गया है.
  • LAHDC के स्थापना दिवस के मौके पर सिंधु घाट पर तिब्बती आध्यात्मिक गुरु को ‘डीपाल आरएनजीम डस्टन’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
  • दलाई लामा ने कहा कि लद्दाख और तिब्बत धार्मिक और सांस्कृतिक समानता के साथ शक्तिशाली सिंधु नदी से जुड़े हुए हैं.
  • उन्होंने कहा कि बदलती हुई जलवायु स्थिति चिंता का एक प्रमुख कारण है और उन्होंने सभी से अपने कार्य में पर्यावरण के प्रति जागरूक होने का आग्रह किया है.

कौन हैं दलाई लामा?

दलाई लामा एक संन्यासी होते हैं जो तिब्‍बतियों के धर्मगुरु हैं. वर्तमान में तेनजिन ग्यात्सो 14वें दलाई लामा हैं. लामा तेनजिन ग्यात्सो (6 जुलाई, 1935 – वर्तमान) तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष और आध्यात्मिक गुरु हैं. उनका जन्म उत्तर-पूर्वी तिब्बत के ताकस्तेर क्षेत्र में रहने वाले ये ओमान परिवार में हुआ था. 1989 में, उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉