हॉकी के जाने-माने खिलाड़ी बलबीर सिंह दोसांझ का निधन

हॉकी के जाने-माने खिलाड़ी बलबीर सिंह दोसांझ का 25 मई को 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया है. वे तीन बार के ओलम्पिक स्‍वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम का हिस्सा थे.

  • देश के महानतम खिलाडियों में से एक बलबीर सिंह दोसांझ 1948 लंदन, 1952 हेल्फिंग की और 1956 मेलबर्न ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा रहे. 1956 के ओलंपिक में, वह भारतीय टीम के कप्तान थे. इस टीम ने फाइनल में पाकिस्तान को हराकर स्वर्ण पदक जीता था.
  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गये आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 दिग्गजों में शामिल वे एक मात्र भारतीय खिलाड़ी थे.
  • उनके नाम पर ओलंपिक के पुरुष हॉकी फाइनल में एक व्यक्ति द्वारा सबसे अधिक गोल करने का रिकॉर्ड है. 1947 से 1958 तक अपने शानदार खेल करियर में बलबीर सिंह सीनियर ने 246 गोल किये.
  • वे 1975 के हॉकी विश्व कप विजेता भारतीय टीम के मैनेजर भी थे. बलबीर सिंह एक शानदार खिलाड़ी के साथ-साथ बेहतरीन प्रशिक्षक भी थे.

खेल को उद्योग का दर्जा देने वाला भारत का पहला राज्या बना मिजोरम

मिजोरम मंत्रिमंडल ने राज्य में खेल क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में खेलों को उद्योग का दर्जा दिया है. राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में खेल और युवा मामले के विभाग के प्रस्ताव ‘खेल को उद्योग का दर्जा देने’ को मंजूरी दी गयी.

निवेश को आकर्षित कर खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए मिजोरम ने खेल को उद्योग का दर्जा दिया है. मिजोरम ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य है.

सानिया मिर्जा को फेड कप हार्ट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा को 12 मई को ‘फेड कप हार्ट अवॉर्ड’ (Fed Cup Heart Award) से सम्मानित किया गया. वह यह अवार्ड जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी हैं.

एशिया-ओसिनिया जोन प्रिस्का को पराजित किया

सानिया को इंडोनेशिया की प्रिस्का मेडेलिन नयुग्रोहो के साथ एशिया-ओसिनिया जोन से नामित किया गया था. 1 से 8 मई तक चली ऑनलाइन वोटिंग के आधार पर सानिया ने प्रिस्का को पीछे छोड़ते हुए यह अवार्ड जीता.

सानिया 6 बार की ग्रैंड स्लैम विजेता हैं. सानिया 2016 के बाद पहली बार इस साल के लिए फेड कप टीम में शामिल हुईं थीं. उन्होंने अंकिता रैना से साथ मिलकर बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भारत को फेड कप के प्लेऑफ में पहुंचाया था.

फेड कप हार्ट अवॉर्ड: एक दृष्टि

अन्तर्राष्ट्रीय टेनिस महासंघ (ITF) ने फेड कप हार्ट अवॉर्ड (Fed Cup Heart Award) की शुरुआत 2009 में की थी.

पैरा-एथलीट दीपा मलिक ने संन्यास की घोषणा की, PCI अध्यक्ष चुनी गयीं हैं

भारतीय महिला पैरा-एथलीट दीपा मलिक ने सक्रिय खेलों से संन्यास की 11 मई को सार्वजनिक घोषणा की. उन्होंने यह फैसला भारतीय पैरालिंपिक समिति (PCI) का अध्यक्ष बनने से पहले किया था. नेशनल स्पोर्ट्स कोड के अनुसार सक्रिय एथलीट किसी भी फेडरेशन में आधिकारिक रूप से पद पर नहीं रह सकता है.

भारतीय पैरालिंपिक समिति (PCI) अध्यक्ष चुनी गयीं

49 साल की दीपा को दिल्ली हाई कोर्ट के निर्देश पर फरवरी में हुए चुनाव मे PCI का अध्यक्ष चुना गया था. खेल मंत्रालय ने लॉकडाउन के कारण PCI को मान्यता नहीं दिया है.

दीपा मलिक: एक दृष्टि

  • देश की प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में से एक दीपा को 1999 में रीढ़ के ट्यूमर का पता चला था, जिसके बाद वह लकवे की शिकार हो गईं थीं.
  • दीपा ने रियो पैरालिंपिक खेल 2016 की गोला फेंक (Shot Put) की F53 स्पर्धा में रजत पदक जीता था. वह पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाडी हैं.
  • उन्होंने 2011 IPC विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप की गोला फेंक की F52-53 स्पर्धा में रजत पदक सहित कई अन्तर्राष्ट्रीय पदक जीते.
  • दीपा ने एशिया पैरा खेलों में चार पदक जीते जिसमें 2010 में भाला फेंक (Javelin Event) की F52-53 स्पर्धा का कांस्य, 2014 में भाला फेंक की F52-53 स्पर्धा में रजत और 2018 में दो कांस्य पदक शामिल हैं.
  • दीपा को 2019 में देश के सर्वोच्च खेल सम्मान ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ से नवाजा गया था. 2017 में उन्हें पद्मश्री और 2012 में अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया.
  • दीपा ने PCI चुनाव लड़ने से पहले अपने संन्यास लेने का पत्र जमा कराया था. PCI लॉकडाउन के कारण खेल मंत्रालय को कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा नहीं करा पाया जिस कारण खेल मंत्रालय ने उसे मान्यता नहीं दी.

पूर्व बल्लेबाज जे अरुण कुमार अमेरिकी क्रिकेट टीम के कोच नियुक्त किए गए

कर्नाटक के पूर्व बल्लेबाज जे अरुण कुमार को अमेरिकी पुरुष क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया है. अमेरिकी क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इयान हिगिंस ने जे अरुण कुमार को मुख्य कोच चुने जाने की पुष्टि 29 अप्रैल को की.

अरुण कुमार ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 7,200 से अधिक जबकि लिस्ट A मैचों में 3,000 से अधिक रन बनाए हैं. उन्होंने 2013-14 और 2014-15 के सत्र में रणजी ट्रोफी, विजय हजारे ट्रोफी और ईरानी कप में कर्नाटक का नेतृत्व किया था.

कोच के तौर पर वह कर्नाटक की टीम के साथ कई वर्षों तक जुड़े रहे हैं. वह इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाजी कोच भी रह चुके हैं.

AIBA ने भारत को दिए ‘विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप’ की मेजबानी को रद्द कर सर्बिया को दिया

अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ (AIBA) ने भारत को दिए पुरुषों की ‘विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप’ (Men’s World Boxing Championship) 2021 की मेजबानी को रद्द कर दिया है. AIBA ने 2017 में इससे संबंधित किये गये करार को 28 अप्रैल को रद्द कर अब सर्बिया को मेजबानी सौंपी है.

भारतीय मुक्केबाजी संघ (BFI) द्वारा मेजबानी की फीस नहीं देने के कारण भारत के मेजवानी के अधिकार को रद्द किया गया है. आयोजन के लिए लगभग 4 मिलियन डालर का भुगतान 2 दिसंबर 2019 तक किया जाना था. भारत को अब करार रद होने के कारण 500 डॉलर का जुर्माना देना होगा. भारत में यह टूर्नामेंट पहली बार होने वाला था. अब ये टूर्नामेंट सर्बिया में 2021 में आयोजित होगा.

पाकिस्तान महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान सना मीर ने संन्यास की घोषणा की

पाकिस्तान महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान सना मीर ने 25 अप्रैल को अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की. सना को पाकिस्तान ही नहीं बल्कि दुनिया की महिला क्रिकेट में बेहतरीन ऑफ स्पिनर्स में से एक माना जाता है. सना मीर ने कुल 226 मैचों में अपने देश का प्रतिनिधित्व किया. 137 में वो कप्तान रहीं. 2005 में उन्होंने डेब्यू किया था.

सना ने दिसंबर 2005 में श्रीलंका के खिलाफ कराची में अपना पहला वनडे खेला था. उन्होंने 120 वनडे में 151 विकेट लिए. इस दौरान उनका एवरेज 24.27 रहा. उन्होंने 89 T-20 भी खेले. इनमें 106 विकेट लिए. उन्होंने अपना आखिरी वनडे मैच नवंबर 2019 में लाहौर में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था.

पीवी सिंधू को BWF के ‘I am badminton’ अभियान का एबेंस्डर चुना गया

भारतीय बैडमिंटन खिलाडी पीवी सिंधू सहित आठ खिलाड़ियों को विश्व बैडमिंटन महासंघ (BWF) के ‘आई एम बैडमिंटन’ (I am badminton) जागरूकता अभियान का एबेंस्डर चुना गया है. पीवी सिंधु विश्व बैडमिंटन चैंपियन बनने वाली पहली भारतीय हैं.

सिंधू के अलावा इस अभियान में कनाडा के मिशेल ली, चीन के झेंग सी वेई और हुआंग या कियोंग, इंग्लैंड के जैक शेपर्ड, जर्मनी के वालेस्का नोब्लाच, हांगकांग के चान हो युएन और जर्मनी के मार्क ज्वेलबर को भी शामिल किया गया है.

क्या है ‘आई एम बैडमिंटन’ अभियान?

‘आई एम बैडमिंटन’ अभियान बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (BWF) द्वारा शुरू किया गया एक जागरूकता कार्यक्रम है. इस अभियान में खिलाड़ियों को बैडमिंटन खेल के प्रति अपना लगाव और सम्मान व्यक्त करने का मंच दिया जाता है. इस मंच में वे ईमानदारी से और साफ सुथरा खेल खेलने की वकालत करते हैं.

विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर 2020 पुरस्कारों की घोषणा

विजडन क्रिकेटर्स पुस्तक ने वर्ष 2020 के विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर (Wisden Cricketers of the Year) 2020 पुरस्कारों की घोषणा 8 अप्रैल को की.

लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द वर्ल्ड

इस वर्ष इंग्लैंड क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को ‘लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द वर्ल्ड’ (leading cricketer in the world) चुना गया. पिछले लगातार तीन साल (2016, 2017 और 2018) से भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को ‘लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द वर्ल्ड’ चुना जा रहा था जो कि रिकॉर्ड है. इस बार विजडन की क्रिकेटरों की लिस्ट में कोई भी भारतीय पुरुष या महिला खिलाड़ी जगह नहीं बना पाया.

स्टोक्स ने पहली बार यह सम्मान हासिल किया है. विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर पुरस्कार 2003 से शुरू किया गया था जिसके बाद स्टोक्स इसे हासिल करने वाले इंग्लैंड के केवल दूसरे क्रिकेटर हैं. उनसे पहले एंड्रयू फ्लिंटॉफ को 2005 में यह सम्मान मिला था.

विजडन वीमेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर

विजडन ने ऑस्ट्रेलियाई आलराउंडर एलिस पेरी को ‘वीमेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ चुना है. पेरी उन पांच खिलाड़ियों में भी शामिल हैं, जिन्हें विजडन का वर्ष का क्रिकेटर चुना गया है. वो इस लिस्ट में शामिल तीन ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों में से एक हैं. पेरी को इससे पहले 2016 में भी ‘वीमेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ चुना था.

विजडन लीडिंग T20 क्रिकेटर ऑफ द ईयर

वेस्टइंडीज के आंद्रे रसेल T20 को ‘लीडिंग T20 क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ (Leading T20 Cricketer of the Year) चुना गया है.

चुने गए अन्य पांच खिलाड़ी

विजडन द्वारा क्रिकेटर्स ऑफ़ इयर चुने गए अन्य पांच खिलाड़ी है, जोफ्रा आर्चर (इंग्लैंड), पैट कमिंस (ऑस्ट्रेलिया), साइमन हैमर (दक्षिण अफ्रीका), मारनस लाबुस्चगने (ऑस्ट्रेलिया) और एलिसे पेरी (ऑस्ट्रेलिया- महिला) हैं.

विजडन क्रिकेटर्स: एक दृष्टि

‘विजडन क्रिकेटर्स’ अल्मनाक (क्रिकेट के बाइबिल) क्रिकेट की एक संदर्भ पुस्तक है जिसे युनाइटेड किंगडम में प्रतिवर्ष प्रकाशित किया जाता है. इसे दुनिया की सबसे प्रसिद्ध खेल संदर्भ पुस्तक माना जाता है.

19वें एशियाई खेलों के अधिकारिक शुभंकर का अनावरण किया गया

ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया ने 4 अप्रैल को 19वें एशियाई खेल (19th Asian Games) 2022 के अधिकारिक शुभंकर (official mascots) का अनावरण किया. इसके लिए ‘तीन रोबोट’ (three robots) को चुना गया है जिसे सामूहिक रूप से ‘स्मार्ट ट्रिपल’ (smart triplets) के नाम से जाना जाता है.

स्मार्ट ट्रिपल, यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों का प्रतिनिधित्व करता है. इन तीन रोबोट (smart triplets) को कांग्कोंग (Congcong), लियानलियन (Lianlian) और चेनचेन (Chenchen) नाम दिया गया. ये तीनों रोबोट हांग्जो शहर और झेजियांग प्रांत की इंटरनेट प्रगति को दर्शाते हैं.

19वें एशियाई खेल 2022: एक दृष्टि

  • 19वें एशियाई खेलों का आयोजन 2022 में चीन के हांग्जो शहर (झेजियांग प्रांत) में किया जायेगा. ये खेल 10 से 25 सितंबर 2022 तक खेला जाएगा.
  • चीन में आयोजित होने वाला यह तीसरा एशियाई खेल होगा. इससे पहले 1990 में बीजिंग और 2010 में ग्वांझोउ में इन खेलों का आयेाजन हो चुका है.
  • इस टूर्नामेंट में 45 देशों के प्रतिभागी 42 खेल प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे.

IWF ने थाईलैंड और मलेशिया के भारोत्तोलन संघ पर प्रतिबंध लगाया

अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन फेडरेशन (International Weightlifting Federation- IWF) ने थाईलैंड और मलेशिया के भारोत्तोलन संघ पर प्रतिबंध लगा दिया है. IWF ने 5 अप्रैल को लिए अपने फैसले में थाई एमेच्योर भारोत्तोलन संघ पर 3 साल का और मलेशियन भारोत्तोलन संघ पर 1 साल का प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया.

इस प्रतिबंध के बाद थाईलैंड और मलेशिया के भारोत्तोलक टोक्यो ओलिंपिक खेलों में हिस्सा नहीं ले सकेंगे. IWF के मुताबिक, ओलंपिक आयोजन जब भी हो, लेकिन इन देशों का कोई खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले सकेगा. थाईलैंड ने 2018 में 9 भारोत्तोलकोंं के डोपिंग में फंसने पर ओलंपिक से खुद नाम वापस लिया था.

IWF ने यह फैसला इन दोनों देशों में काफी संख्या में डोपिंग के मामले सामने के कारण लिया है. थाईलैंड और मलेशिया के पास IWF के इस फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए 21 दिन का समय है.

भारत में आयोजित किया जाने वाला ‘फीफा अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्वकप’ स्थगित

फीफा ने ‘फीफा अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्वकप 2020’ कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया है. इस टूर्नामेंट का आयोजन भारत में 2 से 21 नवंबर 2020 तक होना था. टूर्नामेंट के लिए नई तिथियों की घोषणा बाद में की जाएगी.

इस टूर्नामेंट के स्थगित करने का निर्णय फीफा-कंफेडरेशन्स के कार्यकारी समूह की 3 अप्रैल को हुई बैठक में लिया गया. कार्यकारी समूह ने पनामा और कोस्टारिका में अगस्त और सितंबर 2020 में होने वाले ‘फीफा अंडर-20 फुटबॉल विश्वकप 2020’ को भी स्थगित करने का निर्णय लिया.

‘फीफा अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्वकप 2020’ भारत में नवी मुंबई, गुवाहाटी, अहमदाबाद, कोलकाता और भुवनेश्वर में खेला जाना था.