पोस्ट



प्रियंका चोपड़ा और अनुराग कश्यप 45वें टोरंटो फिल्म फेस्टिवल के ब्रैंड ऐंबैसडर की सूची में शामिल

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा और फिल्मनिर्माता अनुराग कश्यप को 45वें टोरंटो फिल्म फेस्टिवल (TIFF) 2020 के ब्रैंड-ऐंबैसडर्स की सूची में शामिल किया गया है. इस फिल्म फेस्टिवलल का आयोजन 10 से 19 सितंबर 2020 तक होना है.

पहली बार डिजिटल प्लैटफॉर्म

इस साल कोरोना महामारी के कारण TIFF के आयोजन में कुछ बदलाव किए जाएंगे. इस बार फिल्मों की स्क्रीनिंग में सोशल और फिजिकल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा. TIFF के इतिहास में पहली बार टोरंटो के बाहर के लोगों को कनेक्ट करने के लिए डिजिटल प्लैटफॉर्म भी लाया जा रहा है.

कृष्णेंदु मजुमदार BAFTA के नए अध्यक्ष, 73 साल के बाद भारतीय अध्यक्ष चुना गया है

टीवी प्रड्यूसर कृष्णेंदु मजुमदार को BAFTA (The British Academy of Film and Television Arts) का नया अध्यक्ष चुना गया है. कृष्णेंदु मजुमदार अगले 3 सालों तक इस पद की जिम्मेदारियां संभालेंगे. कृष्णेंदु इससे पहले एक साल तक BAFTA के उपाध्यक्ष के पद पर भी रह चुके हैं. उन्हें BAFTA के डिजिटल ऐनुअल जेनरल मीटिंग में अध्यक्ष चुना गया.

कृष्णेंदु मजुमदार पिछले 35 सालों के इतिहास में BAFTA के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष और पिछले करीब 73 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई भारतीय BAFTA का चेयरपर्सन बना हो.

फिल्म अभिनेता मनोज कुमार को ‘वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स’ लंदन ने सम्मानित किया गया

फिल्म अभिनेता मनोज कुमार को ‘वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स’ लंदन ने सम्मानित किया गया है. कुमार को भारतीय सिनेमा में योगदान के लिए WBR गोल्डन ऐरा ऑफ बॉलीवुड से नवाजा गया. कुमार को यह पुरस्कार वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अध्यक्ष संतोष शुक्ला, उपाध्यक्ष उस्मान खान और प्रोफेसर राजीव शर्मा ने दिया.

मनोज कुमार को भारत सरकार ने 1992 में पद्मश्री से और 2015 में दादा साहब फाल्के से सम्मानित किया था. मनोज को देशभक्ति की फिल्मों के लिए जाना जाता है. वे ‘हरियाली और रास्ता’, ‘वो कौन थी’, ‘हिमालय की गोद में’, ‘उपकार’ जैसी बड़ी हिट फिल्में दे चुके हैं.

हाल ही में संस्था ने दिलीप कुमार का भारतीय सिनेमा में योगदान के लिए यह सम्मान दिया गया था. उन्हें यह अवॉर्ड वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन द्वारा उनके जन्मदिन पर प्रदान किया गया था. दिलीप कुमार को 1994 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है.

65वां फिल्म-फेयर 2020 पुरस्कारों की घोषणा, फिल्‍म ‘गली ब्‍वॉय’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार

भारतीय फिल्मों के लिए दिया जाने वाला ‘फिल्म-फेयर पुरस्कार 2020’ का वितरण समारोह 15-16 मार्च को गुवाहाटी में आयोजित किया गया. पहली बार फिल्म-फेयर पुरस्कार समारोह मुंबई से बाहर आयोजित की गयी थी. यह फिल्म फेयर पुरस्कारों का 65वां संस्करण था.

65वें फिल्म-फेयर 2020 में हिन्‍दी फिल्‍म गली ब्‍वॉय ने कई पुरस्‍कार जीते. समारोह में रणबीर सिंह को इस फिल्‍म के लिए सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता और आलिया भट्ट को सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेत्री का पुरस्‍कार मिला. इसी फिल्‍म ने सर्वोत्‍तम निर्देशक का पुरस्‍कार जोया अख्‍तर को दिया गया. समारोह में रमेश सिप्पी को लाइफटाइम अचीवमेंट, गोविंदा को एक्सीलेंस इन सिनेमा अवॉर्ड मिला.

64वें फिल्म-फेयर 2019 मुख्य पुरस्कारों की सूची

सर्वश्रेष्ठ फिल्म: गली बॉय
सर्वश्रेष्ठ क्रिटिक्स फिल्म: सोनचिड़िया और आर्टिकल 15
सर्वश्रेष्ठ अभिनेता: रणवीर सिंह (गली बॉय)
सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: आलिया भट्ट (गली बॉय)
सर्वश्रेष्ठ क्रिटिक्स अभिनेता: आयुष्मान खुराना (आर्टिकल 15)
सर्वश्रेष्ठ क्रिटिक्स अभिनेत्री: तापसी पन्नू और भूमि पेडणेकर (सांड की आंख)
सर्वश्रेष्ठ निर्देशक: जोया अख्तर (गली बॉय)
लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड: रमेश सिप्पी
एक्सीलेंस इन सिनेमा अवॉर्ड: गोविंदा

फिल्मफेयर पुरस्कार: एक दृष्टि

  • फिल्मफेयर पुरस्कार अंग्रेजी की फ़िल्मफ़ेयर पत्रिका द्वारा हिन्दी फिल्म के विभिन्न क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए प्रतिवर्ष प्रदान किये जाते हैं.
  • इसकी शुरुआत सबसे पहले 1954 में हुई जब राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की भी स्थापना हुई थी.
  • पुरस्कार जनता के मत एवं ज्यूरी के सदस्यों के मत के आधार पर दिये जाते हैं.
  • अब पुरस्कारों में ‘क्रिटिक्स अवार्ड’ भी दिये जाते हैं जिसके फैसले में दर्शक शामिल नहीं होते हैं बल्कि फिल्मों के श्रेष्ठ आलोचक इसके निर्णायक होते हैं.
  • 21 मार्च 1954 को आयोजित पहले पुरस्कार समारोह में सिर्फ 5 पुरस्कार दिए गये थे जिसमें दो बीघा ज़मीन को सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म, सर्वश्रेष्ठ निर्देशन के लिए बिमल राय (दो बीघा ज़मीन), सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए दिलीप कुमार (दाग), सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए मीना कुमारी (बैजू बावरा), एवं इसी फिल्म में सर्वश्रेष्ठ संगीत के लिए नौशाद को पुरस्कार दिए गये थे.

92वें ऑस्कर अकादमी पुरस्कार 2020 की घोषणा, पैरासाइट को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार

अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित लॉस एंजेलिस के डॉल्बी थिएटर में 10 फरवरी को आयोजित समारोह में 92वें एकेडमी अवॉर्ड्स (ऑस्कर पुरस्कार) की घोषणा की गयी. इस बार कुल 26 कैटेगरी में अवॉर्ड्स दिए गये.

आस्कर समारोह में दक्षिण कोरियाई निर्देशक और स्क्रिप्ट-राइटर्स Bong Joon Ho की फिल्म पैरासाइट को सर्वश्रेष्ठ फिल्म, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक, अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म और बेस्ट ओरिजिनल स्क्रीनप्ले के लिए ऑस्कर पुरस्कार दिया गया. समारोह में अभिनेता जोकिन फीनिक्स को फिल्म ‘जोकर’ के लिए ‘बेस्ट एक्टर’ का अवार्ड मिला है. अभिनेत्री रिनी जेलविगर को जूडी के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ के ऑस्कर अवार्ड से सम्मानित किया गया. सर्वोच्च सम्मान पाने वाली ‘पैरासाइट’ पहली विदेशी फिल्म भी है.

91वें ऑस्कर के मुख्य पुरस्कार: एक दृष्टि

  • बेस्ट फिल्म: पैरासाइट (सर्वोच्च सम्मान पाने वाली पहली विदेशी फिल्म है)
  • बेस्ट डायरेक्टर: बॉन्ग जून हो (फिल्म – पैरासाइट)
  • बेस्ट एक्टर: जोआक्विन फीनिक्स (फिल्म जोकर)
  • बेस्ट एक्ट्रेस: रेनी जेलवेगर (फिल्म जुडी गार्लेंड)
  • बेस्ट एनिमेटेड फीचर फिल्म: टॉय स्टोरी 4

ऑस्कर पुरस्कार: एक दृष्टि

  • ऑस्कर पुरस्कार को एकेडमी अवॉर्ड्स के नाम से भी जाना जाता है.
  • यह पुरस्कार अमेरिकन अकादमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेस (AMPAS) द्वारा फिल्म उद्योग में निर्देशकों, कलाकारों और लेखकों सहित पेशेवरों की उत्कृष्टता को पहचान देने के लिए प्रदान किया जाता है.
  • ऑस्कर पुरस्कार के समकक्ष के ग्रेमी पुरस्कार (संगीत के लिए), एमी पुरस्कार (टेलीविजन के लिए) और टोनी पुरस्कार (थिएटर के लिए) हैं.
  • पहला अकादमी पुरस्कार समारोह 16 मई,1929 को, हॉलीवुड में होटल रुज़वेल्ट में आयोजित किया गया था.

अब तक के भारतीय ऑस्कर विजेता

  1. भानु अथैया: वर्ष 1982 में सर्वश्रेष्ठ वेशभूषा के लिए ऑस्कर (आई रिचर्ड एटनबरो की फिल्म ‘गांधी’).
  2. सत्यजीत रॉय: वर्ष 1992 में ‘लाइफ-टाइम अचीवमेंट’ कैटेगरी में ऑस्कर.
  3. एआर रहमान: वर्ष 2009 में सर्वश्रेष्ठ संगीत और गुलजार के साथ संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ गीत (फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के गीत ‘जय हो’ के लिए).
  4. गुलजार: वर्ष 2009 में एआर रहमान और गुलजार को संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ गीत का ऑस्कर (फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के लिए).
  5. रेसुल पोक्कुट्टी: वर्ष 2009 में सर्वश्रेष्ठ साउंड मिक्सिंग का ऑस्कर (फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के लिए).
  6. फिल्म ‘पीरियड एंड ऑफ सेंटेंस’: वर्ष 2019 में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यमेंट्री फिल्म का ऑस्कर (फिल्म का निर्माण भारतीय फिल्मकार गुनीत मोंगा की ‘सिखिया एंटरटेनमेंट’ कंपनी द्वारा किया गया था. यह फिल्म भारत के हापुड़ में बनी है.)

73वें बाफ्टा पुरस्कार 2020 की घोषणा, सैम मेंडेस की फिल्म “1917” को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार

73वें ब्रिटिश अकादमी फिल्म एंड टेलीविज़न आर्ट्स अवॉर्ड्स (BAFTA) पुरस्कारों की घोषणा 2 फरवरी को की गयी. पुरस्कार समारोह का आयोजन रॉयल अल्बर्ट हॉल, लंदन में किया गया था. यह पुरस्कार हर साल ब्रिटिश सिनेमा घरों में प्रदर्शित किसी भी देश की फीचर फिल्म और वृत्त-चित्रों को दिया जाता है. 73वें बाफ्टा पुरस्कारों में सैम मेंडेस की फिल्म “1917” को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार दिया गया.

बाफ्टा पुरस्कार 2020 के प्रमुख विजेताओं की सूची

  • सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म: 1917
  • उत्कृष्ट ब्रिटिश फिल्म: 1917
  • सर्वश्रेष्ठ निर्देशक: सैम मेंडेस (1917)
  • सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: रेनी ज़ेल्वेगर (Judy)
  • सर्वश्रेष्ठ अभिनेता: जॉकिन फोनिक्स (Joker)

62वां ग्रेमी अवॉर्ड की घोषणा: व्हेन वी ऑल फॉल अस्लीप को एल्बम ऑफ़ द इयर का पुरस्कार

62वां ग्रैमी पुरस्कार 2020 समारोह का आयोजन 26 जनवरी को लॉस एंजिल्स के स्टेपल्स सेंटर में आयोजित किया गया. इस समारोह को गायक-गीतकार एलिसिया कीज़ ने होस्ट किया था.

62वां ग्रैमी पुरस्कार के मुख्य विजेताओं की सूची

  1. एल्बम ऑफ द ईयर: When We All Fall Asleep, Where Do We Go? (by Billie Eilish)
  2. सॉंग ऑफ द ईयर: Bad Guy
  3. रिकॉर्ड ऑफ द ईयर: Bad Guy
  4. सर्वश्रेष्ठ नए कलाकार: Billie Eilish

ग्रैमी पुरस्कार: एक दृष्टि

  • ग्रैमी अवार्ड (मूल रूप से ग्रामोफोन पुरस्कार), ‘द रेकॉर्डिंग अकादमी’ द्वारा दिया जाता है. यह पुरस्कार मुख्य रूप से अंग्रेजी (भाषा) संगीत उद्योग में उत्कृष्ट उपलब्धियों को पहचानने के लिए दिया जाता है.
  • प्रथम ग्रेमी अवार्ड समारोह 4 मई, 1959 को बेवर्ली हिल्स कैलिफोर्निया में बेवर्ली हिल्टन होटल और न्यूयॉर्क शहर में पार्क शेरेटन होटल आयोजित किया गया था.

‘राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान’ की घोषणा, सुमन कल्याणपुर और कुलदीप सिंह को दिया जायेगा

संगीत के क्षेत्र में दिया जाने वाला ‘राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान’ की घोषणा हाल ही में की गयी है. वर्ष 2017 के लिए यह सम्मान पार्श्व गायिका सुमन कल्याणपुर को और वर्ष 2018 के लिए विख्यात संगीत निर्देशक कुलदीप सिंह को दिया जाएगा.

मुम्बई में हुई चयन समिति की बैठक में सुमन कल्याणपुर और कुलदीप सिंह को इस सम्मान के लिए चयन किया गया. बैठक में वरिष्ठ पार्श्व गायक सुरेश वाडेकर, प्रख्यात फिल्म पत्रकार विनोद तिवारी और फिल्म पत्रकार सुमंत मिश्र शामिल हुए.

राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान: एक दृष्टि

यह सम्मान मध्यप्रदेश सरकार द्वारा संगीत निर्देशन और गायन के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए एक वर्ष के अंतराल पर दिया जाता है. सम्मान के अंतर्गत 2 लाख रुपये की राशि, सम्मान पट्टिका तथा शाल-श्रीफल भेंट किया जाएगा.

प्रसिद्ध ओडिया फिल्मकार मनमोहन महापात्रा का निधन

ओडिशा के प्रसिद्ध फिल्मकार मनमोहन महापात्रा का 14 जनवरी को 69 साल की उम्र में निधन हो गया. 1970 से 80 के शुरुआती दशक में उन्होंने सिनेमा को एक नई पहचान दी थी. उन्हें ‘न्यू वेव ओडिया सिनेमा के जनक’ के रूप में जाना जाता है.

मनमोहन महापात्रा ओडिशा के एकमात्र ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने लगातार राष्ट्रीय पुरस्कार जीता है. उन्होंने लगातार दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीता था. ओडिशा की रिज़नल फ़िल्म के लिए बेस्ट फीचर कैटेगरी में मनमोहन ने कुल आठ बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीता.

महापात्रा ने पहली ओडिया फ़िल्म ‘सीता राती’ बनाई थी, जिसे इंटरनेशल फ़िल्म फेस्टिवल 1982 में दिखाया गया था. उन्हें निशिधा स्वप्ना, माझी पच्चा, नीरब झाड़ा, अग्नि बेना, क्लांता अपरान्हा, अन्धा दिगंता, किचि स्मृति किचि अनुभूति और भीना समया के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला. उन्होंने रिज़नल फ़िल्मों को अतंरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाया. उनकी कई फ़िल्मों को विदेशों में भी दिखाया गया.

77वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स 2020 की घोषणा, सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार ‘1917’ को दिया गया

अमेरिका के कैलिफोर्निया (लॉस एंजिलिस) में बेवर्ली हिल्टन होटल में 6 जनवरी को 77वें वार्षिक गोल्डन ग्लोब अवार्ड्स की घोषणा की गई. ये वार्षिक पुरस्कार मोशन पिक्चर्स और टेलीविजन में वर्ष 2020 के लिए है.

गोल्डन ग्लोब पुरस्कार 2020 के मुख्य विजेताओं की सूची

बेस्ट मोशन पिक्चर (ड्रामा) – 1917
बेस्ट एक्ट्रेस (ड्रामा) – रेनी ज़ेल्वेगर (जूडी)
बेस्ट एक्टर (ड्रामा) – जॉकिन फोनिक्स (जोकर)
बेस्ट फिल्म (म्यूजिकल/कॉमेडी) – वन्स अपॉन ए टाइम इन हॉलीवुड
बेस्ट एक्ट्रेस (म्यूजिकल/कॉमेडी) – ऑक्वाफीना (द फेयरवेल)
बेस्ट एक्टर (म्यूजिकल/कॉमेडी) – टेरॉन एगर्टन (रॉकेटमैन)
बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर – ब्रैड पिट (वन्स अपॉन ए टाइम इन हॉलीवुड)
बेस्ट स्कोर (फिल्म) – जोकर
बेस्ट लिमिटेड सीरीज़/टीवी फिल्म – चेरनोबिल
बेस्ट एक्ट्रेस (लिमिटेड सीरीज़/टीवी फिल्म) – मिशेल विलियम्स (फ़ॉस)
बेस्ट डायरेक्टर (फिल्म) – सैम मेंडेस (1917)
बेस्ट एक्ट्रेस (टीवी सीरीज़-ड्रामा) – ओलिविया कोलमैन (द क्राउन)
बेस्ट एक्टर (टीवी सीरीज़-म्यूजिकल/कॉमेडी) – रैमी युसफ (रैमी)
बेस्ट एक्टर (टीवी सीरीज) – ब्रियान कॉक्स (सक्सेशन)
बेस्ट एक्टर (लिमिटेड सीरीज़/टीवी फिल्म) – रसेल क्रो (द लोउडेस्ट वॉयस)

गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड: एक दृष्टि

  • गोल्डन ग्लोब (Golden Globe) पुरस्कार को ऑस्कर के बाद फिल्म के क्षेत्र का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है.
  • प्रत्येक वर्ष हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन (HFPA) मनोरंजन जगत में विशेष उपलब्धियों के लिए देशी-विदेशी कलाकारों, फिल्मों को गोल्डेन ग्लोब पुरस्कार से सम्मानित करता है.
  • पहला गोल्डन ग्लोब पुरस्कार जनवरी 1944 को लॉस एंजिल्स में आयोजित हुआ था.
  • हर वर्ष जनवरी में दिए जाने वाले इस अवॉर्ड को 90 अन्तर्राष्ट्रीय पत्रकारों के मतों (वोट्स) के आधार पर दिया जाता है.

फिल्म ‘द लास्ट कलर’ को ऑस्कर अवॉर्ड्स की फीचर फिल्म्स की लिस्ट में शामिल किया गया

फिल्म ‘द लास्ट कलर’ को ऑस्कर अवॉर्ड्स के फीचर फिल्म्स की लिस्ट में शामिल किया गया है. ऑस्कर एकेडमी ने 2019 की 344 बेस्ट पिक्चर्स में इस फिल्म को शामिल किया है. इस लिस्ट का हिस्सा होने लायक बनने के लिए फिल्मों को लॉस एंजेलिस के कमर्शल मोशन पिक्चर थिएटर में 31 दिसंबर तक रिलीज होना होता है और कम से कम 7 दिनों तक चलना होता है.

फिल्म ‘द लास्ट कलर’ को यूएसए के 30वें पाम स्प्रिंग्स इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में 4 जनवरी 2019 को रिलीज किया गया था. यह फिल्म भारत में अभी तक रिलीज नहीं हुआ है. मुंबई फिल्म फेस्टिवल 2019 में इसकी स्क्रीनिंग रखी गई थी.

फिल्म ‘द लास्ट कलर’ की कहानी वृंदावन और वाराणसी में रहने वाली विधवा औरतों की जिंदगी पर आधारित है. इस फिल्म के निर्देशक विकास खन्ना हैं. यह उनके द्वारा निर्देशित पहली फिल्म है. नीना गुप्ता ने इस फिल्म में मुख्य भूमिका निभाई है.

फिल्‍म अभिनेता अमिताभ बच्‍चन को 2018 का दादासाहेब फाल्‍के पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया

फिल्‍म अभिनेता अमिताभ बच्‍चन को फिल्‍म उद्योग में उनके योगदान के लिए 29 दिसम्बर को दादासाहेब फाल्‍के पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में उन्हें इस सम्मान से सम्मानित किया. उन्हें वर्ष 2018 का दादा साहब फाल्के सम्मान दिया गया है.

अमिताभ बच्‍चन

अमिताभ बच्‍चन ने फिल्‍मों में अपने करियर की शुरुआत 1969 में ‘वॉइस नैरेटर’ के रूप में की थी. उन्‍होंने मृणाल सेन की फिल्‍म ‘भुवन शोम’ में अपनी आवाज दी थी. उन्होंने अभिनेता के रूप में पहला फिल्‍म ख्वाज़ा अहमद अब्बास के निर्देशन में बनी फिल्म ‘सात हिन्दुस्तानी’ से किया था.

अमिताभ बच्‍चन को 2015 में देश का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से भी सम्मनित किया गया था. उन्हें फिल्म अग्निपथ (1990), ब्लैक (2005), पा (2009) और पीकू (2015) के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. साल 2007 में अमिताभ बच्चन को फ्रांस की सरकार ने अपने देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया था.

दादा साहब फाल्‍के पुरस्‍कार: एक दृष्टि

  1. दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारत सरकार की ओर से दिया जाने वाला एक वार्षिक पुरस्कार है.
  2. यह पुरस्‍कार भारतीय सिनेमा के विकास में उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए प्रदान किया जाता है.
  3. यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा के जनक धुंदीराज गोविंद फाल्‍के (दादा साहब फाल्के) के नाम पर दिया जाता है.
  4. इस पुरस्कार का प्रारम्भ दादा साहब फाल्के के जन्म शताब्दि-वर्ष 1969 में हुआ था.
  5. पहली बार यह सम्मान 1969 में 17वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार समारोह में अभिनेत्री देविका रानी को प्रदान किया गया था.
  6. वर्ष 2017 के लिए यह पुरस्‍कार 65वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार समारोह में विनोद खन्ना को दिया गया था.
  7. इस पुरस्कार में 10 लाख रुपये और स्वर्ण कमल दिये जाते हैं.