पोस्ट

स्वच्छ भारत पुरस्कार-2020 की घोषणा, गुजरात को राज्य स्तर पर पहला पुरस्कार

गांधी जयंती के मौके पर स्वच्छ भारत पुरस्कार-2020 की घोषणा की गई. इन पुरस्कारों की घोषणा केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने की.

ये पुरस्कार राज्य, जिला, ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर दिए गये. राज्य स्तर पर पहला पुरस्कार गुजरात को दिया गया. तमिलनाडु के तिरुनलवेल्ली जिले को जिला स्तर पर स्वच्छता के लिए प्रथम पुरस्कार मिला. वहीं उज्जैन जिले के खाचरौद ब्लॉक को प्रथम पुरस्कार मिला तमिलनाडु के चिन्नानूर गांव को ग्राम पंचायत स्तर पर शीर्ष स्थान मिला.

सामुदायिक शौचालयों अभियान के तहत गुजरात और उत्तरप्रदेश को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले राज्यों का पुरस्कार मिला. उत्तरप्रदेश के बरेली और प्रयागराज को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले जिले का पुरस्कार मिला. गंदगी मुक्त भारत मिशन के तहत हरियाणा और तेलंगाना शीर्ष पर रहे.

राष्‍ट्रपति ने नौसेना के शिवाजी प्रशिक्षण संस्‍थान को राष्‍ट्रपति ध्‍वज प्रदान किया

राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भारतीय नौसेना के INS शिवाजी प्रशिक्षण संस्‍थान को राष्‍ट्रपति ध्‍वज (President’s Colour) प्रदान किया है. पुणे के लोणावला में इस प्रशिक्षण संस्‍थान की स्‍थापना के प्‍लेटिनम जुबली समरोह में उन्‍होंने इस संसथान के राष्‍ट्र निर्माण में उल्‍लेखनीय योगदान के लिए सराहना की.

राष्‍ट्रपति ध्‍वज सेना की किसी ईकाई को प्रदान किए जाने वाला सर्वोच्‍च सम्‍मान है. INS शिवाजी नौसेना, अन्य सहयोगी सेनाओं और संबंधित देशों के कर्मियों को इंजीनियरिंग अनुशासन में प्रशिक्षण प्रदान करता है.

पद्म पुरस्कार 2020 की घोषणा, जानिए पद्म पुरस्कार के बारे में, पद्म पुरस्कार 2020 की पूरी सूची

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सरकार ने वर्ष 2020 के पद्म पुरस्कारों की घोषणा की. इस वर्ष कुल 141 लोगों को पद्म पुरस्कार दिए जायेंगे. 7 लोगों को पद्म विभूषण, 16 को पद्म भूषण और 118 को पद्मश्री पुरस्कार दिया जाएगा.

पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री जॉर्ज फर्ना‍न्डीस, सुषमा स्‍वराज, अरूण जेटली और पेजावर मठ के महंत विश्वेषतीर्थ स्‍वामी जी को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा. मॉरिशस के पूर्व प्रधानमंत्री अनिरूद्ध जगनाथ, शास्‍त्रीय संगीत गायक छन्‍नू लाल मिश्र और मुक्‍केबाज एमसी मैरीकॉम को भी पद्म विभूषण प्रदान किया जायेगा.

गोवा के पूर्व मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर तथा विख्‍यात कानून और शिक्षाविद एन.आर. माधव मेनन को मरणोपरांत पद्म भूषण से सम्मानित किया जायेगा. जाने माने लेखक मनोज दास, बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू और उद्योगपति आनंद मंहिद्रा को पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा.

फुटबॉल खिलाड़ी ओइनेम बेमबेम देवी, फिल्‍म निर्देशक करण जौहर और अभिनेत्री कंगना रनौत को पद्मश्री प्रदान किया जायेगा. पद्मश्री पुरस्‍कार के लिए चुने गए गण्यमान्य व्यक्तियों में जगदीश लाल आहूजा, जावेद अहमद टाक, तुलसी गौड़ा, मोहम्‍मद शरीफ, सत्‍यनयन मुंडयूर, एस रामकृष्‍ण और योगी ऐरन शामिल हैं.

जाने पद्म पुरस्कार के बारे में, पद्म पुरस्कार 2020 की पूरी सूची…»

भारत की मालावथ पूर्णा ने अंटार्कटिका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी को फतह कर कीर्तिमान बनाया

भारत की मालावथ पूर्णा ने अंटार्कटिका महाद्वीप की सबसे ऊंची पर्वत चोटी ‘विन्सन मासिफ’ (4,987 मीटर) को 18 साल की उम्र में ही फतह कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. वह ऐसा करने वाली सबसे कम उम्र की पर्वतारोही बन गई हैं.

पूर्णा दुनिया की पहली और सबसे कम उम्र की आदिवासी महिला बन गई, जिसने छह महाद्वीपों की छह सबसे ऊंची पर्वत चोटियों पर कदम रखा है. पूर्णा ने इससे पहले महज 13 साल की उम्र में विश्व की सर्वोच्च शिखर श्रेणी माउंट एवरेस्ट पर फतह की थी.

पूर्णा ने अब तक कई बड़े-बड़े पर्वतों की चोटियों को फतह किया है. इसमें एवरेस्ट (एशिया, वर्ष 2014), माउंट किलिमंजारो (अफ्रीका, 2016), माउंट एल्ब्रस (यूरोप, 2017), माउंट अकोंकागुआ (दक्षिण अमेरिका, 2019) माउंट कारस्टेंसज (ओशिनिया क्षेत्र, 2019) और माउंट विंसन मासिफ (अंटार्कटिका, 2019) हैं.

राष्‍ट्रपति ने राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्‍कार 2019 प्रदान किये

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 5 दिसम्बर को नई दिल्‍ली में नर्सों की तीन विभिन्‍न श्र‍ेणियों में 36 पुरस्‍कार प्रदान किए. ये पुरस्कार देश में नर्सिंग क्षेत्र में उल्‍लेखनीय योगदान के लिए दिए गये. राष्ट्रपति ने विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 2020 को नर्स और मिड-वाइफ वर्ष घोषित किए जाने पर प्रसन्नता जाहिर की.

पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं में से एक नाम लिनी सजीश पुथुस्सेरी का भी है. निपाह वायरस से पीड़ित लोगों का इलाज करने के दौरान इसके वायरस संक्रमण से लिनी की मौत हो गयी थी. लिनी सजीश केरल स्थित कोझीकोड के सरकारी अस्पताल में नर्स थीं.

1973 में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्‍कार की स्‍थापना की गई थी.

फ्लोरेंस नाइटिंगेल (Florence Nightingale) को आधुनिक नर्सिग आन्दोलन का जन्मदाता माना जाता है. वह ‘द लेडी विद द लैंप’ के नाम से प्रसिद्ध हैं. 1859 में फ्लोरेंस ने सेंट थॉमस अस्पताल में एक नाइटिंगेल प्रक्षिक्षण विद्यालय की स्थापना की थी. इसी बीच उन्होंने नोट्स ऑन नर्सिग पुस्तक लिखी.

देश की एकता और अखण्‍डता में योगदान देने के लिए सरदार वल्‍लभ भाई पटेल पुरस्‍कार की शुरूआत

केन्‍द्र सरकार ने देश की एकता और अखण्‍डता में योगदान देने के लिए सरदार वल्‍लभ भाई पटेल के नाम पर सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान पुरस्‍कार की शुरूआत की है. यह पुरस्कार राष्ट्रीय एकता और अखंडता को बढ़ावा देने और उल्लेखनीय तथा प्रेरणादायक योगदान के लिए दिया जाएगा.

31 अक्‍टूबर को सरदार पटेल की जयंती पर राष्‍ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर इस पुरस्‍कार की घोषणा की जाएगी. ये पुरस्‍कार राष्‍ट्रपति द्वारा दिया जाएगा.