Posts

नाजला बूदेन रमधाने ट्यूनीशिया की पहली महिला प्रधानमंत्री बनीं

नाजला बूदेन रमधाने (Najla Bouden Romdhane) को ट्यूनीशिया का प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया है. वह ट्यूनीशिया की पहली महिला प्रधानमंत्री हैं. राष्ट्रपति कैस सईद ने नाजला बूदेन रमधाने को सरकार बनाने के लिए अधिकृत किया है.

63 वर्षीय नाजला ऐसे समय में एक उच्च राजनीतिक स्थान हासिल कर रही हैं, जब देश एक गंभीर राजनीतिक संकट की चपेट में है. सिर्फ दो महीने पहले राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री हिचिम मेशिशी को बर्खास्त कर दिया और संसद को भंग कर दिया था. राजनीतिक दलों ने राष्ट्रपति के इस कदम को “तख्तापलट” करार दिया था.

ट्यूनीशिया के राष्ट्रपति कैस सईद ने कहा कि वह Romdhane के साथ मिलकर दृढ़ इच्छाशक्ति और संकल्प के साथ काम करेंगे ताकि कई सरकारी संस्थानों में व्याप्त भ्रष्टाचार और अराजकता को खत्म किया जा सके. 2014 के संविधान के मुताबिक रमधाने के पास पिछले प्रधानमंत्रियों की तुलना में कम शक्ति होंगी क्योंकि पिछले हफ्ते सईद ने कहा था कि आपातकाल के दौरान सरकार राष्ट्रपति के प्रति जिम्मेदार होगी.

2019 के राष्ट्रपति चुनाव के पहले कैस सईद को एक बहुत ही प्रतिष्ठित कानून के प्रोफेसर के तौर पर जाना जाता था. वाम मोर्चा और इस्लामी दलों समेत लगभग सभी राजनीतिक दलों ने उनको समर्थन की घोषणा की थी. वह वर्ल्ड बैंक के लिए काम कर चुकी हैं.

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉

ट्यूनीशिया राष्ट्रपति चुनाव: निर्दलीय उम्मीदवार कैस सैयद विजयी हुए

ट्यूनीशिया में हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार कैस सैयद ने विजयी हुए हैं. परिणामों के अनुसार, सैयद ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एवं हार्ट ऑफ ट्यूनीशिया पार्टी के नेता नाबिल करोई को भारी अंतर से हराया. इस चुनाव में श्री सैयद को 72.71 मत प्राप्त हुये. नाबिल करोई को चुनाव में केवल 27.29 प्रतिशत मत प्राप्त हुये.

ट्यूनीशिया के मौजूदा राष्ट्रपति बीजी कैड एस्सेबी की मृत्यु के बाद वहां जुलाई 2019 चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई थी.